Nelson Mandela Day: जहां मंडेला 27 साल की सजा काटकर उसी देश के राष्ट्रपति बने

Nelson Mandela का जन्मदिन: Nelson Mandela ने रंगभेद के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी। 27 साल की सजा काट दी। बाद में उसी देश के राष्ट्रपति बन गए।

Nelson Mandela Day 2023: 18 जुलाई को Nelson Mandela की जयंती है। इस दिन अंतरराष्ट्रीय Nelson Mandela दिवस मनाया जाता है। Nelson Mandela को दुनिया में एक शांतिदूत के रूप में देखा जाता है। रंगभेद के खिलाफ उन् होंने अहिंसा का रास्ता चुना। 27 साल की सजा काट दी। बाद में उसी देश के राष्ट्रपति बन गए। South Africa का ‘Gandhi’ Nelson Mandela है। आज उनके जन्मदिन पर, आइए आपको उनके जीवन से जुड़ी विशिष्ट बातें बताते हैं।

Kerala के पूर्व मुख्यमंत्री Oommen Chandy का 79 वर्ष की उम्र में निधन

8 July1918 को South Africa में जन्मे Nelson Rolihlahla Mandela का पूरा नाम था। इनके पिता कम उम्र में मर गए। इसके बाद उनका जीवन काफी कठिन था। 1944 में Nelson Mandela ने African National Congress में शामिल होने के बाद रंगभेद के खिलाफ आंदोलन शुरू किया। इसी साल उन् होंने African National Congress Youth League की स्थापना की, जिसमें उनके साथी भी शामिल थे।

1947 में वे African National Congress Youth League के सचिव बने। Nelson Mandela और उनके कुछ सहयोगियों पर 1961 में देशद्रोह का मुकदमा चलाया गया। लेकिन इसमें उनकी गलती साबित हुई। लेकिन 1962 में उन पर मजदूरों को हड़ताल करने और बिना अनुमति देश छोड़ने के आरोप लगाए गए। 1964 में Nelson Mandela को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई। बाद में उन्होंने 27 साल Jail में बिताए। 1990 में वे Jail से रिहा हुए।

Nelson Mandela
@Source Image: Google

Nelson Mandela ने गुप्‍त रूप से अपनी जीवनी लिखी जब वे जेल में थे. यह बाद में एक पुस्तक के रूप में प्रकाशित हुआ, जिसका नाम ‘Long Walk To Freedom’ था। जब Nelson Mandela Jail से रिहा हुए, देश भर में उत्सव मनाया गया। Nelson Mandela को आम लोगों में एक ‘Hero’ की तरह देखा जाता था।

उन्होंने रिहाई के बाद एक बहुजातीय, Democratic Africa का निर्माण समझौते और शान्ति के सिद्धांतों से किया। 1994 में, South Africa ने रंगभेद को छोड़ दिया। Nelson Mandela ने इन Election में बहुमत से विजयी होकर अपनी सरकार बनाई। 10 May1994 को, Nelson Mandela South Africa का पहला अश्वेत राष्ट्रपति बन गया।

Nelson Mandela, भारत रत्न जीतने वाले पहले विदेशी अहिंसा की राह पर चलकर रंगभेद के खिलाफ जो भी लड़ाई की, उसके बाद विश्व भर में उनकी छवि एक शांतिदूत के तौर पर बन गई। उनसे कई देश आकर्षित हुए। Nelson Mandela को 1990 में India सरकार ने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया। भारत रत्न पाने वाले पहले विदेशी Nelson Mandela थे। वे 1993 में नोबेल शांति पुरस्कार से भी सम्मानित हुए। November 2009 में संयुक्त राष्ट्र ने 18 July को Nelson Mandela International Day के रूप में मनाने की घोषणा की। 2010 में पहला Nelson Mandela Day मनाया गया।

One thought on “Nelson Mandela Day: जहां मंडेला 27 साल की सजा काटकर उसी देश के राष्ट्रपति बने

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *