COVID-19: नेटफ्लिक्स, अमेज़न प्राइम समेत कई वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विस में हो सकते हैं ये बड़े बदलाव

0
15


जानें कौन से हैं वह बदलाव जो कोरोना वायरस के चलते वीडियो स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म पर होने वाले हैं…

जानें कौन से हैं वह बदलाव जो कोरोना वायरस के चलते वीडियो स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म पर होने वाले हैं…

सेल्यूलर मोबाइल सेवा नेटवर्क कंपनियों के संगठन COAI ने सरकार के कोरोना (coronavirus) महामारी से निपटने के प्रयासों के मद्देनजर नेटफ्लिक्स,(netflix) अमेज़न प्राइम (amazon prime video) वीडियो,ALT बालाजी और ऐसी कई वीडियो स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म (video content) वाली कंपनियों से नेटवर्क पर दबाव कम करने का निर्देश तत्काल जारी करने का आग्रह किया है.

सीओएआई का कहना है कि इस समय लोगों पर निकलने की पाबंदियों और क्वैरंटाइन (संग-निरोध) जैसे उपायों के चलते वीडियो स्ट्रीमिंग कंपनियों से वीडियो कंटेंट की मांग बढ़ गई है और इसका नेटवर्क पर दबाव पड़ रहा है. संगठन का कहना है कि इस समय ‘बहुत जरूरी’ कामों के लिए नेटवर्क की जरूरत है.

(ये भी पढ़ें-WhatsApp यूज़र्स को मिलेगा नया फीचर, मैसेज के सामने मिलेगा ये ‘खास बटन’)

सीओएआई ने दूरसंचार सचिव अंशु प्रकाश को पत्र लिख कर कहा है कि देश के विभिन्न भागों में लोगों के आने-जाने पर लागू पाबंदियों और पृथक रखे जाने जैसे उपायों के चलते आनलाइन वीडियो धारा की मांग अचानक बढ़ने के आसार हैं.

File Photo

HD कंटेंट को SD पर करें स्विच
संगठन ने आनलाइन वीडियो कंटेंट प्रवाहित करने वाली कंपनियों से भी इस विषय में संपर्क किया है. उसने कहा है कि वीडियो की मांग बढ़ने से दूरंसचार सेवा नेटवर्क पर दबाव बढ़ गया है. ऐसे में उन्हें थोड़े समय के लिए HD (हाई डेफिनिशन) रुप की जगह SD (स्टैंडर्ड डेफिनिशन) रुप के वीडियो प्रवाह जैसे कदम उठाने चाहिए.

(ये भी पढ़ें- BSNL का बड़ा तोहफा, एक महीने के लिए ग्राहकों को मुफ्त में मिल रहा है इंटरनेट!) 

सीओएआई ने वीडियो प्रवाह कंपनियों से नेटवर्क पर ज्यादा जगह लेने वाली विज्ञापन सामग्री और पाप-अप (क्षणिक रुपसे उभने वाली सामग्रियों) की जगह कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता वाला कंटेंट दिखाना चाहिए.

सीओएआई ने कहा है कि इस नाजुक समय में यह ज़रूरी है कि वीडियो धारा कंपनियां दूरसंचार नेटवर्क सेवा देने वाली कंपनियों के साथ पूरा सहयोग करें ताकि नेटवर्क पर बदाव न बढ़े क्यों कि इस समय नेटवर्क की ज़रूरत बहुत अहम कामों के लिए ज्यादा है.
(इनपुट-भाषा से)


First published: March 23, 2020, 8:59 AM IST





Content Authority

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें